बिहार विधानसभा में जबरदस्त हंगामा, सदस्यों के बीच हाथापाई की नौबत

पटना. शनिवार को बिहार विधानसभा में जबरदस्त हंगामा (Ruckus in Bihar Assembly) हुआ. सदन में हाथापाई की नौबत आ गई. सत्ता और विपक्ष के विधायक आपस में भिड़ गये. विपक्षी विधायक नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को बोलने नहीं देने का आरोप लगा रहे थे. वहीं घटना के बाद विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा (Vijay Kumar Sinha) ने कहा कि आज की घटना ने सदन को लज्जित किया हैकि सत्ता पक्ष और विपक्ष मर्यादा का ख्याल रखें और नियम के अनुसार काम करें.

दरअसल शनिवार को विधानसभा कार्यवाही शुरू होने के बाद तेजस्वी यादव मंत्री रामसूरत राय के शराब तस्करी से जुड़े मुद्दे पर कुछ तथ्य पेश कर रहे थे. लेकिन उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने उन्हें रोक दिया. तारकिशोर प्रसाद ने सख्त लहजे में कहा कि जो सवाल या मुद्दे पहले से मुद्रित हैं, सदन में उसपर चर्चा हो. नेता प्रतिपक्ष उन मुद्दों पर बात ना करें, जो मुद्रित ना हो. वहीं, किसी मंत्री के पिता और परिवार के अन्य सदस्यों का नाम सदन में लेना सदन के नियम के विरुद्ध है. सदन केवल नेता प्रतिपक्ष का नहीं सबका है, ऐसे में वो नियमों का पालन करें. इसके बाद बहसबाजी शुरू हो गयी.

घटना से नाराज आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने विधायकों के साथ राजभवन मार्च किया और तारकिशोर प्रसाद पर सदन को निर्देशित करने का आरोप लगाया. दोपहर बाद जब विधानसभा शुरू हुई तो स्वास्थ्य विभाग के बजट पर तेजस्वी यादव भाषण देने के लिए खड़े हुए थे. अपने भाषण के दौरान तेजस्वी यादव ने जैसे ही शराब शब्द का जिक्र किया. जिसके बाद बीजेपी के विधायक उठ खड़े हुए.

बीजेपी के कई विधायकों ने भारी हंगामा (Ruckus in Bihar Assembly) कर दिया. बीजेपी विधायक बेल में पहुंच गये, जिसके बाद आरजेडी के विधायक भी बीजेपी विधायकों से उलझ गये. विधायकों की तरफ से अपशब्दों का प्रयोग किया जा रहा था. विधानसभा अध्यक्ष ने पहले तो विधायकों को शांत करने की कोशिश की. लेकिन स्थिति संभलते नहीं देख सदन की कार्यवाही साढ़े तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी. मारपीट औऱ हाथापाई को देखते हुए आखिरकार मार्शल को बुलाना पड़ा. मार्शल ने आकर एक दूसरे से उलझे विधायकों को बाहर किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *